DMCA.com Protection Status

UIDAI : UIDAI Aadhaar Website – www.uidai.gov.in – Guide for Login, Status & Latest Updates

Background of UIDAI

The Unique Identification Authority of India (UIDAI), इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (भारत सरकार) के तहत 12 जुलाई 2016 को भारत सरकार द्वारा Aadhar Act, 2016 के प्रावधानों के तहत स्थापित एक वैधानिक प्राधिकरण है। वैधानिक प्राधिकरण के रूप में अपनी स्थापना से पहले, UIDAI NITI Aayog के संलग्न कार्यालय के रूप में कार्य कर रहा था। इसके गजट नोटिफिकेशन को देखें, तो सरकार ने UIDAI को MeitY में संलग्न करने के लिए व्यावसायिक नियमों के आवंटन को संशोधित किया।

UIDAI
Full form of UIDAI:  Unique Identification Authority of India
Establishing Date:12 July 2016
Under Ministry:Ministry of Electronics and Information Technology (MeitY)
CEO of UIDAI:Shri Pankaj Kumar
UIDAI Headquarters:Delhi

Aadhaar and UIDAI

सत्यापन / प्रमाणीकरण द्वारा समर्थित डुप्लिकेट / नकली पहचान को समाप्त करने के लिए एक मजबूत प्रणाली स्थापित करने का इरादा रखते हुए, सरकार ने Aadhar को पेश किया। Aadhar भारत के सभी निवासियों को जारी किया जाने वाला एक विशिष्ट पहचान नंबर है। UIDAI को भारत के सभी निवासियों के लिए आधार के तहत विशिष्ट पहचान संख्या (UID) जारी करने के लिए बनाया गया था।

Aadhar Act 2016 के तहत, Unique Identification Authority of India आधार नामांकन और प्रमाणीकरण के लिए जिम्मेदार है, जिसमें Aadhar जीवन चक्र के सभी चरणों का संचालन और प्रबंधन शामिल है, व्यक्तियों को Aadhar Number जारी करने के लिए नीति, प्रक्रिया और प्रणाली विकसित करना, प्रमाणीकरण करना , और पहचान की जानकारी और व्यक्तियों के प्रमाणीकरण रिकॉर्ड की सुरक्षा सुनिश्चित करना UIDAI का ही काम है।

Services provided by UIDAI

Aadhar के साथ सभी पहचान पत्रों (ड्राइविंग लाइसेंस, पैन, वोटर आईडी, पासपोर्ट) और खातों (बैंक खातों, मोबाइल नंबर आदि) को जोड़ने की एक सतत प्रक्रिया में, सरकार चरणबद्ध तरीके से लिंकेज को अनिवार्य कर रही है। वर्तमान में, पैन और बैंक खाते को Aadhar से जोड़ना अनिवार्य है। PAN नंबर को Aadhar नंबर से कैसे लिंक करें?

UIDAI Aadhar से संबंधित सेवाओं को ऑनलाइन के साथ-साथ ऑफ़लाइन भी प्रदान करता है। सेवाएँ पंजीकृत व्यक्ति के विवरण को अद्यतन करने से लेकर, डेटा के सुधार और उठाई गई आवश्यकताओं की स्थिति की जाँच करने तक होती हैं। इन सेवाओं को ऑफ़लाइन प्राप्त करने के लिए, कोई आवश्यक दस्तावेजों के साथ नामांकन केंद्र का दौरा कर करना पड़ता है और अपने मुद्दों को हल कर किया जा सकता है।

m-Aadhaar

The Unique Identification Authority of India (UIDAI) ने mAadhaar नाम से एक मोबाइल ऐप जारी किया है, जिसे आपके Google Play Store से डाउनलोड किया जा सकता है। इस mAadhaar ऐप के माध्यम से निम्नलिखित सेवाएं प्रदान की जाती हैं:

  1. प्रोफ़ाइल निर्माण: Aadhar प्रोफ़ाइल केवल तभी बनाई जा सकती है जब आपके पास एक पंजीकृत मोबाइल नंबर हो।
  2. आप अपनी बायोमेट्रिक्स जानकारी लॉक और अनलॉक कर सकते हैं।
  3. वर्चुअल आईडी जनरेशन।

चलिए अब इस App में profile creation के स्टेप्स देखते हैं:

  1. अपना 12 अंकों का Aadhar Number इनपुट करें।
  2. सुनिश्चित करें कि आपका मोबाइल कनेक्शन सक्रिय है, अपनी सभी डिटेल्स डालने के बाद Verify पर क्लिक करें।
  3. अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर पर भेजे गए ओटीपी को दर्ज करें। आपकी प्रोफ़ाइल बन जाएगी।

MAadhaar ऐप निम्नलिखित लाभ भी प्रदान करता है:

  • Aadhar धारक किसी भी समय अपनी बायोमेट्रिक्स पहचान सेवाओं को आसानी से लॉक और अनलॉक कर सकते हैं।
  • Aadhar धारक सीधे text या ईमेल के माध्यम से अपने eKYC साझा कर सकता है।
  • अब आप mAadhaar ऐप की समय-आधारित OTP सुविधा का उपयोग कर सकते हैं, जो केवल 30 सेकंड के लिए मान्य होगा।
  • यह ऐप उपयोगकर्ताओं को क्यूआर कोड का उपयोग करके विवरण साझा करने की अनुमति देता है, जो डेटा के किसी भी तरह से लीक होने को रोकता है।
  • एक Aadhar धारक सत्यापन प्रक्रिया के लिए Aadhar विवरण प्रदान करके और भुगतान करने के लिए mAadhaar ऐप से एक नया Aadhar कार्ड ऑर्डर कर सकता है।

Role of UIDAI

दी गई सेवाओं के अलावा, the Unique Identification Authority of India गोपनीयता, सुशासन, और अधिक मजबूत प्रणाली प्रदान करने के तरीकों को सुनिश्चित करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कुछ स्थानों पर जहां UIDAI महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है:

  • व्यक्तियों को Aadhar संख्या जारी करने के लिए नीति, प्रक्रिया और प्रणाली विकसित करने के लिए, जो नामांकन की प्रक्रिया से गुजरकर अपनी जनसांख्यिकीय जानकारी और बायोमेट्रिक जानकारी जमा करके अनुरोध करते हैं।
  • प्रौद्योगिकी अवसंरचना की उपलब्धता, मापनीयता और लचीलापन सुनिश्चित करना।
  • व्यक्तियों की पहचान, सूचना और प्रमाणीकरण रिकॉर्ड की सुरक्षा और गोपनीयता सुनिश्चित करना।
  • सभी व्यक्तियों और एजेंसियों द्वारा Aadhar अधिनियम का अनुपालन सुनिश्चित करना।
  • Aadhar अधिनियम के प्रावधानों को पूरा करने के लिए नियमों और नियमों को Aadhar अधिनियम के अनुरूप बनाना।

UIDAI Ecosystem

मूलतः The Unique Identification Authority of India(UIDAI) की दो प्रक्रियाएँ हैं:

  • Enrolment and Update

नामांकन प्रक्रिया में रजिस्ट्रार और नामांकन एजेंसियां ​​शामिल हैं। रजिस्ट्रारों के साथ समन्वय में, नामांकन एजेंसियों ने नामांकन केंद्र स्थापित किए, जहां निवासी Aadhar के लिए नामांकन कर सकते हैं। UIDAI द्वारा प्रमाणित कई फिंगरप्रिंट स्कैनर, आईरिस स्कैनर और कैमरे UIDAI द्वारा तैयार मानक एप्लीकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफेस (एपीआई) से जुड़े हुए हैं। रजिस्ट्रार व्यक्तियों को नामांकित करने के लिए UIDAI द्वारा अधिकृत या मान्यता प्राप्त संस्था है। नामांकन एजेंसियों को रजिस्ट्रारों द्वारा नियुक्त किया जाता है और प्रमाणित ऑपरेटरों / पर्यवेक्षकों को संलग्न करके नामांकन प्रक्रिया के दौरान व्यक्तियों की जनसांख्यिकीय और बायोमेट्रिक जानकारी एकत्र करने के लिए जिम्मेदार होते हैं।

Adhaar Card में अपना मोबाइल नंबर कैसे बदलें? पढ़ें हिंदी में।

  • Authentication

UIDAI ने निवासियों के त्वरित प्रमाणीकरण के लिए एक स्केलेबल प्रक्रिया निर्धारित की है। Aadhar प्रमाणीकरण पारिस्थितिकी तंत्र प्रतिदिन लाखों प्रमाणीकरणों को संभालने में सक्षम है और मांग के अनुसार इसे और बढ़ाया जा सकता है। UIDAI ने कई सरकारी और गैर-सरकारी संगठनों से कई प्रमाणीकरण सेवा एजेंसियों (ASAs) और प्रमाणीकरण उपयोगकर्ता एजेंसियों (AUAs) की नियुक्ति की है।

Organisational Structure of UIDAI

DDG को सहायक महानिदेशक (ADG), उप निदेशक, अनुभाग अधिकारी और सहायक अनुभाग अधिकारी द्वारा समर्थित किया जाता है। मुख्यालय के पास कुल 127 अधिकारी और कर्मचारी सदस्य हैं, जिनमें खाते और आईटी शाखाएं शामिल हैं। प्रत्येक क्षेत्रीय कार्यालय का नेतृत्व एक उप महानिदेशक (DDG) करता है और सहायक संरचना में सहायक निदेशक सामान्य, उप निदेशक, अनुभाग अधिकारी, सहायक अनुभाग अधिकारी, वरिष्ठ लेखा अधिकारी, लेखाकार और व्यक्तिगत कर्मचारी शामिल होते हैं।

Grievances Redressal of UIDAI

UIDAI में शिकायतें निम्नलिखित तरीकों से प्राप्त होती हैं:

  • UIDAI Contact Centre

UIDAI ने Aadhar नामांकन, अपडेशन और अन्य सेवाओं से संबंधित प्रश्नों और शिकायतों से निपटने के लिए एक संपर्क केंद्र स्थापित किया है। जब एक निवासी एक नामांकन केंद्र से संपर्क करता है, तो ऑपरेटर शिकायत दर्ज करने के लिए एक पावती देता है। निवासी आगे पावती पर्ची से नंबर उद्धृत करके स्थिति अपडेट के लिए अनुसरण कर सकते हैं।

  • Post

निवासियों के पास UIDAI के मुख्यालय या क्षेत्रीय कार्यालयों में अपनी शिकायतें पोस्ट करने का विकल्प है। शिकायतों की जांच की जाती है और फिर उन्हें UIDAI में संबंधित अधिकारी / लोक शिकायत अधिकारी को हार्डकॉपी में भेज दिया जाता है। संबंधित क्षेत्रीय कार्यालय / संबंधित अनुभाग शिकायतकर्ता को शिकायत प्रकोष्ठ, UIDAI से सीधे शिकायत का जवाब देकर शिकायत का निपटान करता है।

  • भारत सरकार का सार्वजनिक शिकायत पोर्टल

शिकायतें Unique Identification Authority of India द्वारा सार्वजनिक शिकायत पोर्टल – pgportal.gov.in के माध्यम से प्राप्त की जाती हैं।

  • DPG (Directorate of public grievances)
  • DARPG (Department of Administrative reforms & Public Grievances)
  • Parent Organization
  • Direct receipts
  • President’s Secretariat
  • Pension
  • Minister’s office
  • P.M.’s Office

शिकायतों की जांच की जाती है और फिर संबंधित अधिकारी को ऑनलाइन आगे भेज जाती है।

  • E-mail

कई बार, UIDAI अधिकारियों द्वारा E-mail के माध्यम से शिकायत प्राप्त की जाती है। इन E-mails की जांच की जाती है और संबंधित अधिकारियों को भेज दी जाती है। शामिल अधिकारी शिकायतकर्ता को शिकायत प्रकोष्ठ को सूचना के तहत E-mail पर जवाब देकर शिकायत का निपटान करता है।

Latest updates of UIDAI

UIDAI ने एंड्रॉइड और आईओएस उपयोगकर्ताओं के लिए एक नया ऐप जारी किया है जो Aadhar धारकों को मोबाइल फोन पर अपना Aadhar कार्ड डाउनलोड करने और इसे काम में रखने में सक्षम बनाता है। ऐप को mAadhaar ऐप के रूप में जाना जाता है। MAadhaar ऐप के नवीनतम संस्करण में दो प्रमुख खंड हैं:

  1. Aadhaar Services Dashboard: किसी भी Aadhar धारक के लिए लागू सभी Aadhar ऑनलाइन सेवाओं के लिए एक एकल खिड़की।
  2. My Aadhaar Section: आपके Aadhar प्रोफ़ाइल के लिए निजीकृत स्थान।

Aadhar संख्या के दुरुपयोग को रोकने के लिए, (UIDAI) Unique Identification Authority of India अपनी बायोमेट्रिक जानकारी जैसे फ़िंगरप्रिंट और आईरिस स्कैन को लॉक करने की सुविधा प्रदान करता है।

UIDAI Regional Offices

Office by RegionState or Union Territories covered
MumbaiGujarat, Maharashtra, Goa, Dadar & Nagar Haveli, Daman & Diu
DelhiMadhya Pradesh, Delhi, Uttarakhand and Rajasthan
BengaluruKerala, Tamil Naidu, Pondicherry, Lakshadweep and Karnataka
ChandigarhChandigarh, Jammu & Kashmir, Punjab, Haryana and Himachal Pradesh
GuwahatiTripura and Sikkim, Mizoram, Nagaland, Manipur, Meghalaya, Arunachal Pradesh and Assam
HyderabadAndaman and Nicobar, Chhattisgarh, Orissa, Telangana, Andhra Pradesh
LucknowUttar Pradesh

Frequently Asked Questions (FAQ’s)

Do’s and Don’ts for Filling up Aadhaar update Form

  • फॉर्म केवल बड़े अक्षरों का उपयोग करके भरा जाना चाहिए।
  • अपडेट करने के लिए सभी फ़ील्ड भरें।
  • किसी भी अपडेट के लिए मोबाइल नंबर अनिवार्य है।
  • Aadhar नामांकन के समय अंग्रेजी और स्थानीय भाषा में फॉर्म भरें।
  • नाम में श्री / श्रीमती / सुश्री / डॉ नहीं होना चाहिए।
  • सुनिश्चित करें कि आधार कार्ड में पूरा पता भरें क्योंकि इसी पते पर aadhar भेजा जायेगा।
  • दस्तावेजों को स्व-साक्ष्यांकित करते समय हस्ताक्षर या अंगूठे के निशान के साथ स्पष्ट रूप से नाम दर्ज करें।
  • केवल वही दस्तावेज़ संलग्न करें जो आवश्यक update का समर्थन करते हैं।
  • ध्यान रखें की गलत जानकारी और समर्थन दस्तावेजों की कमी के कारण आवेदन अस्वीकार कर दिया जाएगा।

What to do if you lose your Aadhaar card?

यदि आपने अपना Aadhar कार्ड खो दिया है / गलत है। तो चिंता न करें। आप UIDAI की वेबसाइट पर जाकर और Aadhar ऑनलाइन सेवाओं तक पहुंचकर पीडीएफ / ई-आधार ऑनलाइन डाउनलोड करके Duplicate Aadhar कार्ड प्राप्त कर सकते हैं।

For how long is the Aadhar card valid?

Aadhar कार्ड/नंबर आपके पूरे जीवन के लिए मान्य है।

Can Aadhaar card be made online?

नहीं, Aadhar नामांकन एक बार की शारीरिक प्रक्रिया है जिसे किसी भी Aadhar नामांकन केंद्र में किया जा सकता है। अपने पास Aadhar नामांकन केंद्र खोजने के लिए, UIDAI वेबसाइट पर जाएं और आधार नामांकन केंद्र खोजें।

What is the purpose of having an Aadhaar Card?

  • Aadhar आपकी पहचान है।
  • Aadhar आपके पते का भी प्रमाण पत्र है।
  • सरकारी सब्सिडी तक पहुंच बनाने के काम भी आता है।
  • बैंक खाते खोलने और संचालित करने की पात्रता।
  • आयकर-आयकर रिटर्न को संसाधित करने और दाखिल करने के लिए Aadhar अनिवार्य है।
  • Mutual Fund – Aadhar कार्ड म्यूचुअल फंड निवेश के लिए E-KYC को पूरा करने के लिए फायदेमंद है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *